Google Ads kya hai
|

Google Ads kya hai in Hindi

हैलो दोस्तों, Praveen Ratlami ब्लॉग पोस्ट में आपका स्वागत है! आज आप हमसे जुड़े है, सम्पूर्ण जानकारी Google Ads kya hai in Hindi के लिए तो आज में आपको बताऊंगा की Google adwords kya hai?, ये कैसे काम करता है, और इस पर अकाउंट कैसे बनाए! 

गूगल के बारे में कौन नहीं जनता है लेकिन क्या आपको ये पता है, कि पूरे विश्व में सबसे ज्यादा उपयोग में आने वाला सर्च इंजन है! इस सर्च इंजन में हज़ारों वेबसाइट रोज बनती है, इसीलिए हर बिज़नेस में कॉम्पिटिशन बढ़ गया है!

तो हर वेबसाइट का रैंक होना थोड़ा मुश्किल होता है, इस मुश्किल को आसान करने के लिए गूगल ने एक प्लेटफॉर्म शुरू किया है जिसे हम गूगल एडवर्ड के नाम से जानते है!

Google Ads kya hai को पूरी तरह समझने के लिए आपका ये पोस्ट पूरा पढ़ना और मेरे साथ बने रहना बहुत जरूरी है!

किसी वेबसाइट पर ट्रैफिक लाना इस कॉम्पिटिशन के दौर में आसान नहीं है, और आर्गेनिक ट्रैफिक लाने का एक ही तरीका है, जिसे Search Engine Optimisation के नाम से जानते है, SEO एक टाइम टेकिंग प्रोसेस है! लेकिन वही गूगल को पैसे दे कर आप आपकी वेबसाइट को Keyword के सर्च वॉल्यूम के हिसाब से नंबर 1 पर रैंक कर सकते है!

Google Ads In Hindi – What is Google Adword In Hindi?

Google Ads kya hai hindi में लिखने का मुख्य उद्देश्य ये है की बहुत से ऐसे स्माल बिज़नेस ओनर और नए ब्लॉगर जो ब्लॉग लिखते है, लेकिन उन्हें एडवर्ड क्या है ये नहीं पता है!

Small business चलाने वाले चाहे उनकी वेबसाइट हो या फिर Google my business लिस्टिंग हो, वो अपने बिज़नेस को बढ़ाने में गूगल एडवर्ड का सहारा ले सकते है.

और वे कीवर्ड के जरिये या फिर दूसरी वेबसाइट पर डिस्प्ले ऐड चलाकर अपनी सेल्स और सर्विस को बढ़ा सकते है!

वही ब्लॉगर इन डिस्प्ले ऐड के जरिये से पैसा कमा सकते है, Google Adwords ने कई ब्लॉगर को कमाई का जरिया दिया है, आज ब्लॉग्गिंग से अच्छी earning की जाती है ये सिर्फ गूगल एडवर्ड के माध्यम से ही संभव है 

गूगल एडवर्ड गूगल के द्वारा दी गयी ऐसी डिजिटल एडवरटाइजिंग सर्विस है, जिसके द्वारा एड्स के जरिये कीवर्ड टारगेट करके ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपने प्रोडक्ट एवं सर्विस को ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुंचा सकते है! और अपने बिज़नेस को बढ़ा सकते है!

गूगल एडवर्ड के द्वारा ऐड चलने के लिए सबसे पहले आपकी  वेबसाइट को गूगल एडवर्ड अकाउंट से कनेक्ट करना होगा!

Keyword Kya hai

कीवर्ड वह वर्ड्स होते है जो की आप सर्च इंजन पर कुछ ढूंढने के लिए टाइप करते है, उसे आप कीवर्ड कह सकते है!

मान लीजिये अपने इस ब्लॉग पर आने के लिए गूगल पर सर्च किया “Google Adwords in Hindi” तो ये है आपका कीवर्ड!

अगर मुझे इस ब्लॉग के लिए एड चलाना है तो मेरा कीवर्ड Google Ads kya hai होगा और में इसके अलावा भी और भी कीवर्ड ले सकता हु कोई लिमिट नहीं होती!

Google Ads kya hai

चलिए समझते है, Google Ads kya hai?  Google AdWords, Google की विज्ञापन का प्रोसेस है, जिसमें विज्ञापन देने वाला Google के SERP परिणामों में अपने वेबसाइट पर क्लिक करने योग्य विज्ञापन कुछ कीवर्ड को सेलेक्ट करके एक क्लिक के हिसाब से जो मूल्य गूगल ने कॉम्पिटिशन के हिसाब से तय किया होता है। और उस निर्धारित मूल्य पर क्लिक्स प्राप्त करके ट्रैफिक बढ़ाता है  चूंकि विज्ञापन देने वाले को इन क्लिक्स के लिए कुछ भुगतान करना पड़ता है, इस तरह से Google खोज से पैसा कमाता है।

क्या आप जानते है, google Search Engine के SERP पे 20 रिजल्ट Show होते है, जिसमे 7 रिजल्ट Ads के शो होते है, 4 result ऊपर और 3 नीचे और बीच में 10 SEO के रिजल्ट शो होते है!

Google Ads Kaise kaam Karta hai

गूगल एडवर्ड के काम करने का तरीका बहुत सिंपल है, अगर सर्च रिजल्ट की बात करे तो कीवर्ड रिसर्च करके जो विज्ञापन देने वाली वेबसाइट होती है, उसको सबसे पहले दिखाना ही उसका मकसद होता है!

दूसरे तरीके में किसी दूसरी वेबसाइट पर किसी वीडियो, इमेज, या Gif के जरिये जिन भी लोगों ने विज्ञापन देने वालो की वेबसाइट विजिट की है उनके इंटरेस्ट के हिसाब से विज्ञापन को दर्शाता है!

Google Ads के Goal क्या-क्या है

गूगल ने अपने कस्टमर के लिए गूगल एडवर्ड के फीचर्स को इतना सरल बना दिया है! इसमें आपको सबसे पहले आपके बिज़नेस के अकॉर्डिंग गोल सेलेक्ट करना होता है 

  1. Sales
  2. Leads
  3. Website Traffic
  4. Product and Brand Consideration
  5. Brand Awareness and Reach
  6. App Promotion 
  7. Create a campaign without a goal’s guidance

इन फीचर्स को सेलेक्ट करने के बाद आता है कम्पैन! कैंपेन से मेरा मतलब है एड! गूगल एडवर्ड में मुख्यतः 7 गोल है, लेकिन अलग अलग गोयल के हिसाब से आप सेलेक्ट करने के ऑप्शंस होते है  इन गोल को सेलेक्ट करने के बाद आता है उसके गोल में आपके बिज़नेस के हिसाब से टाइप सेलेक्ट करे हर गोल में उसके हिसाब से अलग अलग टाइप मौजूद है!

Google Ads Type in Hindi

Google adwords types को समझने के लिए आपको ये ज़रूर पता होना चाहिए की आप इस एड्स के माध्यम से चाहते क्या है अगर आप ये नहीं समझ  पाते है तो आपकी जो जरूरत है वह  पूरी नहीं हो पाएगी! मान लीजिये आप कुछ खरीदने निकले है लेकिन आपको ये नहीं पता की वो आपके काम क्या आने वाली है तो कोई मतलब नहीं है 

Google विज्ञापन (ऐडवर्ड्स) में 5 अलग-अलग Campaign प्रकारों को आपके जरुरत के हिसाब से चयन करने की अनुमति देता है। वे हैं: खोज नेटवर्क, प्रदर्शन नेटवर्क, वीडियो (YouTube), खरीदारी और यूनिवर्सल ऐप्स। विज्ञापनों को चलाने के लिए गोल चुनने के बाद एक अभियान प्रकार चुनना होता है, प्रत्येक प्रकार के अभियान की   अलग विशेषताएं होती हैं!

Search Ads Network kya hai

खोज नेटवर्क (एसएन) – इस अभियान में आपको सिर्फ कीवर्ड के माध्यम से खोज इंजन परिणाम पृष्ठों पर केवल टेक्स्ट विज्ञापन दिखाने में आपकी मदद  करता हैं। जिससे आपके वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ता है, और इसके अलावा मोबाइल ऐप इंस्टॉल, मोबाइल ऐप सगाई, डायनामिक खोज विज्ञापन और कॉल-ओनली शामिल हैं। 

खोज विज्ञापनों का सबसे बड़ा लाभ यह है कि आज कोई भी कुछ भी वस्तु  खरीदने या फिर कुछ जानकारी प्राप्त करने के लिए सर्च करता है, और उस सर्च में अगर आपका विज्ञापन उस स्थान पर पहले नंबर पर आता  हैं, तो आपके विज्ञापन चलाने का और क्लिक करने का उद्देश्य बढ़ जाता  है! 

सर्च नेटवर्क का उपयोग करके हम 3 आवश्यकता को पूरा कर सकते है! Sales, Lead, Website traffic.

Display Ads Network kya hai

इस Display Ads Network का उपयोग हम Google Partners website पर Image, Gif के  माध्यम से आपकी niche के  हिसाब से आपकी audience को टारगेट कर सकते हैं! display network का उपयोग करने के लिए लाखों वेबसाइट मौजूद है, उन वेबसाइट के अंदर आप अपनी ads को दिखा सकते है, और अपने ब्रांड को  ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुंचा सकते है!

यह आपकी 5 जरूरतों को पूरा करता है!  Sales, leads, website traffic, Product and Brand Consideration, Brand Awareness

Video Ads kya hai (Youtube Ads in Hindi)

video ads campaign का उपयोग आज सबसे अधिक किया जा रहा है, क्युकी वीडियो मार्केटिंग के माध्यम से आप आपके costumer से अच्छी तरह कनेक्ट हो पाते है . creative वीडियो कंटेंट से आप आपके बिज़नेस और प्रोडक्ट को अच्छी तरह से एक्सप्लेन कर सकते है!  

यूट्यूब पर आप skippable ads और in -stream वीडियो एड्स की सहायता से अधिक लोगो तक आपके brand को पहुंचा सकते है. और प्रॉडक्ट की बिक्री बढ़ा सकते है!

 Shopping Ads Network kya hai

शॉपिंग विज्ञापन नेटवर्क को आप नाम से ही समझ गए होंगे वैसे इसे Product Listing Ads भी कहते है . ये Ad Campaign शॉपिंग वेबसाइट के लिए बहुत कारगर है!

Universal App Campaign kya hai

इस campaign की सहायता से आप गूगल प्ले स्टोर और SERP पे Keywords की सहायता से application रैंक करवा सकते है इसमें एप्लीकेशन को इनस्टॉल करने के बाद ही पैसे कटते है!

Google Adwords के 5 Important Factors

गूगल एक बहुत बड़ा सर्च इंजन है . और ये अपने पाठकों को सही जानकारी देने का प्रयास करता है| इसी कारण गूगल ने ads चलाने में भी कुछ fectors को शामिल किया है

ताकि अपने पाठको तक सही एवं सटीक information पहुंचे| तो चलिए गूगल adwords के कुछ factors क्या है, और कैसे काम करते है!

1. Keyword

Google ऐडवर्ड्स के लिए प्राथमिक Factor खोजशब्द (Keyword) हैं। जैसा की गूगल सही result देता है, यही कारण है कि Google ऐडवर्ड्स अन्य सोशल विज्ञापनों की तुलना में अधिक प्रभावी है। यदि आप अपनी ad में सही keyword का चयन करते है, तो आपको १००% रिजल्ट्स प्राप्त होने की संभावना है|

कीवर्ड को लक्षित करने के लिए तीन शानदार तरीके हैं:

  1. अपनी वेब साइट पर जिन keywords का उपयोग किया हैं, उन्ही कीवर्ड का उपयोग करे, उन्हें देखने के लिए अपनी वेबसाइट के landing पेज को अच्छी तरह से check करें।
  2. अपनी वेबसाइट के सही keyword को व्यवस्थित रूप से खोजने के लिए अपने वेब एनालिटिक्स सॉफ़्टवेयर का उपयोग करें।
  3. जो भी संभावित कीवर्ड है, उनकी पहचान करने के लिए Google कीवर्ड planner टूल का उपयोग करें। यह टूल गूगल का है, अतः यह सही रिजल्ट प्रोवाइड करेगा|

2. Targeting

google adwords मै विभिन्न विकल्पों के माध्यम से अपने ऐड को लोकेशन, डिवाइस, age के हिसाब से target कर सकते है, लेकिन limited audience होने के कारण लीड आना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। कई targeting विकल्प हैं:

Geografic: आप अपने विज्ञापनों को अलग अलग भौगोलिक क्षेत्रों में प्रदर्शित करने के लिए Target कर सकते हैं। आपके विज्ञापन उन लोगों को भी दिखाई दे सकते हैं,

जिन्होंने अपनी खोज में Location शब्दों को शामिल करके रुचि व्यक्त की है। उदाहरण के लिए पुणे में कोई आपके विद्यालय के विज्ञापन को नहीं देखेगा यदि आप केवल मुंबई को लक्षित कर रहे थे। लेकिन अगर उन्होंने “स्कूल इन मुंबई” की खोज की, तो वे विज्ञापन देख सकते थे।

Device: आप अपने विज्ञापन को डेस्कटॉप, टैबलेट या मोबाइल जैसे विशिष्ट उपकरणों पर प्रदर्शित करने के लिए सीमित कर सकते हैं।

यदि आपका लैंडिंग पृष्ठ का अनुभव मोबाइल उपयोगकर्ताओं के लिए अनुकूलित नहीं है, तो अपने अभियान से मोबाइल उपकरणों को बाहर करने पर विचार करें।

इससे आपकी रूपांतरण दर बढ़ेगी और रणनीतिक रूप से अपना विज्ञापन बजट खर्च करने में मदद मिलेगी। (लेकिन यह देखते हुए कि छात्र आज कितनी बार अपने मोबाइल फोन का उपयोग करते हैं, यदि आप एक उत्तरदायी वेब डिज़ाइन का उपयोग नहीं कर रहे हैं तो यह मूर्खतापूर्ण होगा)

3. Ad Copy

आपके विज्ञापन में ad copy का बहुत महत्व है। सही खोजशब्दों को लक्षित करते हुए, आपके विज्ञापन को पाठको के सामने लाएँगे, सही ad copy बनाने से उन्हें आगे की जाँच करने और विज्ञापन पर क्लिक करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। आपकी विज्ञापन कॉपी, आपके कीवर्ड के साथ, आपकी क्लिक-थ्रू दर पर सीधा प्रभाव डालती है।

विज्ञापन प्रति रणनीतियों की संख्या है जो आपके विज्ञापन की प्रभावशीलता में सुधार करेगी:

Call-to-Action: अपने भावी costomers को “apply now ” या “register today” ऐसे शब्दों के माध्यम से clicks करने के लिए प्रभावित कर सकते है।
Include Keywords (कीवर्ड शामिल करें): आपके द्वारा लक्षित प्रत्येक कीवर्ड का Quality Score होता है। जितना अधिक स्कोर होगा, उतना अधिक बार आपका विज्ञापन दिखाई देगा और उसका cost भी कम होगा। अपनी ad copy में अपना सबसे महत्वपूर्ण कीवर्ड शामिल करें।

Value Proposition (मूल्य प्रस्ताव): आप जिस product या service के लिए ad चलाना चाहते है, उसे अपने प्रतिद्वंद्वियों से अलग करें। अपने संभावित ग्राहक के लिए अपने अद्वितीय मूल्य को इंगित करें।
Test your Ad: अपने विज्ञापन के 2-4 रूपांतर बनाएं और फिर प्रदर्शन की समीक्षा करें। कुछ विज्ञापन बेहतर प्रदर्शन करेंगे। फिर आप बेहतर प्रदर्शन करने वाले विज्ञापन को डिफ़ॉल्ट विज्ञापन बना सकते हैं।

4. Landing Page

अधिकांश संस्थान अनुकूलित लैंडिंग पृष्ठ के महत्व को समझने में विफल रहते हैं, जिसके परिणामस्वरूप न्यूनतम लीड होती है। एक अनुकूलित लैंडिंग पृष्ठ बहुत अलग दिखता है। उस लैंडिंग पृष्ठ में आपके उत्पाद या सेवाओं का पूरा विवरण होना आवश्यक है, लैंडिंग पृष्ठ को हमेशा सरल रखें। अपने customers का ध्यान केंद्रित करने के लिए वेबपृष्ठों को डिज़ाइन करें! कम से कम एक कॉल-टू-एक्शन शामिल करें। सक्रिय भाषा का उपयोग करें। कृपया एक फ़ोन नंबर प्रदान करें।

5. Measure

Google ऐडवर्ड्स पर एक महीने में सैकड़ों या हजारों रुपए खर्च करने के बाद भी अच्छे रिजल्ट प्राप्त नहीं होते है! क्युकी ad को masure करना बहुत जरुरी होता है, Google AdWords में ads को masure करने के लिए तीन मुख्य क्षेत्र हैं!

  • impressions
  • clicks
  • conversions

Google ऐडवर्ड्स कार्यक्रम के माध्यम से किसी भी विज्ञापन को इंप्रेशन और क्लिक के माध्यम से आसानी से ट्रैक किया जा सकता है, लेकिन रूपांतरणों को ट्रैक करने के लिए, आपको Google Analytics का सहारा लेना होगा, जिसमें एक लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए। यदि आप अपने Google AdWords अभियानों के साथ रूपांतरणों पर नज़र नहीं रख रहे हैं, तो आप अपना पैसा बर्बाद कर रहे हैं और आपके पास किसी भी तरह के रिटर्न में अपने विज्ञापन खर्च को जोड़ने का कोई तरीका नहीं है।

वैसे तो Google ऐडवर्ड्स में मापने के लिए कई अन्य क्षेत्र भी हैं, जिनमें कीवर्ड प्रदर्शन, विज्ञापन प्रदर्शन आदि शामिल हैं, लेकिन कम से कम, आपको रूपांतरणों को मापने की आवश्यकता है।

Similar Posts

One Comment

  1. मुझे आपकी वैबसाइट बहुत पसंद आई। आपने काफी मेहनत की है। मैंने आपकी वैबसाइट को बुकमार्क कर लिया है। हमे उम्मीद है की आप आगे भी ऐसी ही अच्छी जानकारी हमे उपलब्ध कराते रहेंगे। हमने भी लोगो को जानकारी देने की कोशिश की है। यह हमारी पोस्ट है हमे सपोर्ट करे। और हो सके तो हमारी वैबसाइट को एक बॅकलिंक जरूर दे। धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.